वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद

CSIR

नमक एवं समुद्री रसायण विभाग

यह विभाग इस संस्थान का उद्‌गम विभाग है। इस विभाग की संशोधन गतिविधियाँ, समुद्र, भूमिगत और सरोवर के ब्राइन में से उत्पादित नमक की उपज़ तथा गुणवत्ता में सुधार एवं बिटर्न के तलछटीय प्रवाह द्बारा पोटाश, मेग्नेशिया जैसे मूल्यवान समुद्री रसायनों की प्राप्ति हेतु प्रक्रियाओं का विकास करने पर केन्द्रीत हैं।

विभाग की क्षमताएं


  • ब्राइन के प्रकारों अर्थात्‌ समुद्र/भूमिगत अथवा सरोवर के ब्राइन के अनुरुप सोलर सॉल्ट बर्कस की संरचना हेतु डिज़ाइन तैयार करना।
  • नमक निर्माण में श्रेष्ठ अभ्यास के निदर्शन के लिये देश के विभिन्न प्रातों में मॉडल सॉल्ट वर्कस की स्थापना।
  • समुद्र/भूमिगत और सरोवर के ब्राइन में से श्रेष्ठ गुणवत्तावाले सौर नमक का उत्पादन।
  • आयोडीन, झिंक, आर्यन आदि आवश्यक पोषकों से साधारण नमक को पुष्ट करना।
  • विशिष्ट विनियोग के लिये गोलाकार नमक।
  • क्लोर आल्कली उद्योगों के लिये अनुकूल केल्शियम और मेग्नेश्यिम के उचित अनुपातवाला नमक एवं आयोडाइड मुक्त नमक।
  • उष्मीय तथा भौतिक संपदा का विस्तृत डेटाबेस।
  • छोटे स्केल के सोल्ट वर्कस का अर्द्ध यांत्रिकरण।
  • सॉल्ट वर्कस के लिये अनुकूल जमीन का सर्वेक्षण।
  • आधारभूत स्तर के कार्मिको के साथ कार्य का अनुभव।
  • नमक विनिर्माता एवं विभिन्न स्तर के औद्योगिक कार्मिकों के लिये प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन।

विभाग का सामर्थ्य

इस विभाग में विभिन्न क्षेत्रों जैसे अकार्बनिक/भौतिक रसायण शास्त्र, अकार्बनिक सॉल्ट प्रणाली की अवस्था संतुलन, ब्राइन प्रणाली की सोल्युशन केमेस्ट्री, नैनो पदार्थ, नमक व समुद्री रसायन प्रौद्योगिकी, सोलर सॉल्ट वर्कस की संरचना व डीज़ाइन, नमक अभियांत्रिकी आदि के विशेषज्ञ वैज्ञानिकों की समर्पित टीम है।

विभिन्न उपयोग के लिये विभिन्न प्रकार के उत्पादन हेतु कई नवीनतम प्रणाली विकसित करके पेटन्ट ली गई है। यह विभाग नमक उत्पादन की समाकलित प्रक्रिया द्बारा ब्रोमीन, कम सोडियमवाला नमक, म्यूरेट ऑफ पोटाश, सल्फेट ऑफ पोटाश, अतिशुद्ध मेग्नेश्यिम रसायण जैसे मूल्यवर्धित समुद्री रसायनों की प्राप्ति के लिये स्पर्धात्मक प्रौद्योगिकी का प्रस्ताव करने में सक्षम है।

यह विभाग ब्राइन प्रणाली संबंधित उच्च गुणवत्तावाले संशोधन पत्र प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय जरनलों में अच्छे इम्पेक्ट फेक्टर के साथ प्रकाशित कर रहा है। इस विभाग ने नमक व समुद्री रसायण के क्षेत्र में राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय पेटन्ट भी प्राप्त की हैं।

वर्तमान संशोधन ने संस्थान को निम्नलिखित यु एस पेटन्ट प्राप्त करने का श्रेय दिलाया है।


  • समाकलित प्रक्रिया द्बारा ब्राइन में से साधारण नमक व समुद्री रसायणों की प्राप्ति के लिये प्रक्रिया यु एस पेटन्ट सं 6776972 दिनांक 17.08.2004
  • बिटर्न में से कम सोडियमवाले नमक उत्पादन प्रक्रिया यु एस पेटन्ट सं 6890509 दिनांक 10.5.2005
  • सोलर सॉल्ट वर्कस में दूर से ब्राइन का घनत्व का अनुमान करने के लिये एक नवीनतम उपकरण यु एस पेटन्ट सं 6865942 दिनांक 15.3.2005
  • बिटर्न में से एक साथ औद्योगिक स्तर का पोटाश्यिम ङ्कलोराइड, KCl (कम सोडियमवाला नमक) से समृद्ध खाद्य नमक उत्पादन की उन्नत प्रक्रिया, यु एस पेटन्ट सं 10/814,779 दिनांक 30.3.2004
  • सल्फेट समृद्ध ब्राइन में से सल्फेट ऑफ पोटाश (SOP) प्राप्त करने की नवीनतम समाकलित प्रक्रिया यु एस पेटन्ट आवेदन संख्या 10/814 778 दिनांक 30.3.2004
  • उच्च शुद्धता एवं सफेदीवाले सौर नमक (सोलर सॉल्ट) बनाने की किफायती प्रक्रिया, यु एस पेटन्ट आवेदन सं 11/992533 दिनांक 25.3.2008 EP 1928569
  • माइक्रोमीटर कद के गोलाकार स्फटीकवाला मुक्तस्त्रावी साधारण नमक और उसे बनाने की प्रक्रिया यु एस पेटन्ट Pub. 209 युएस 2009176096 A 120090709
  • सोलर सॉल्ट पेन में ब्राइन में से अति शुद्ध साधारण नमक बनाने की एक उन्नत प्रक्रिया यु एस पेटन्ट आवेदन सं 12/240762 दिनांक 29.9.2008

  • हमने सीएसआइआर के मार्गदर्शन सिद्धान्तों के अनुसार नमक, समुद्री रसायन एवम्‌ अकार्बनिक रसायणों से संबंधित प्रायोजित/परामर्श के लिये प्रोजेक्ट लिये हैं।

इस विभाग ने ग्रासीम इंडिया लिमिटेड, टाटा केमीकल्स, एचएलएल, जीएचसीएल, आइपीसीएल, एचसीएल, नवीन फ्लोरीन, केमफेब आल्कली जैसे अनेक प्रतिष्ठित संस्था/उद्योगों में परामर्श कार्य किया है। विदेश में दो स्थल कतार एवं दोहा में सोलर सॉल्ट वर्कस तैयार करने का तथा म्युरीच में परिशुद्ध मुक्तस्त्रावी नमक बनाने का प्लान्ट लगाके उत्पादन शुरु करने का कार्य सफलतापूर्वक पूर्ण किया गया। यह विभाग भारत सरकार के सॉल्ट डिपार्टमेन्ट, राजस्थान सरकार के औद्योगिक विभाग, डिपार्टमेन्ट ऑफ हेन्डीक्राफ्ट एन्ड कोटेज इंडस्ट्रीज, गर्वनमेन्ट ऑफ उड़ीसा, इन्डस्ट्रीज कमिश्नरेट, गर्वनमेन्ट ऑफ गुजरात, रुरल टेकनोलोजी इन्स्टीटयुट, गर्वनमेन्ट ऑफ गुजरात और सेवा, आनंदी, अर्हम जैसे गैर सरकारी कार्यालयो के साथ सहयोगी योजनाओं पर कार्य कर रहा है।