वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद

CSIR

निर्णय लेने की प्रक्रिया (उत्तरदायित्व और पर्यवेक्षण चैनल प्रक्रिया सहित)

अनुसंधान तथा विकास प्रवृतियों के बारे में, हमारे पास विभागाध्यक्ष हैं जो सामान्यतः निदेशक महोदय के साथ परामर्श करके निर्णय प्रक्रिया में निर्णय लेते हैं। विभागाध्यक्ष अपने विभाग की अनुसंधान व विकास गतिविधियों पर भी निगरानी रखते हैं। वैज्ञानिक विभागाध्यक्ष को रिपोर्ट करते हैं। विभागाध्यक्ष निदेशक को जवाबदेह होते हैं जो आगे अनुसंधान परिषद को रिपोर्ट करते हैं।

प्रशासन में, हमारे पास अनुभाग अधिकारी, प्रशासन अधिकारी एवं प्रशासन नियंत्रक हैं जो नियमित रोजबरोज के कार्य की निगरानी करतें हैं तथा निदेशक को रिपोर्ट करते हैं। तदुपरांत विभिन्न आंतरिक समितियों का गठन किया जाता है जिसे विशिष्ट प्रकार की समस्याओं के निराकरण के लिये विशिष्ट उत्तरदायित्व प्रदान किया गया है, ये समितियाँ अपनी प्रशस्तियाँ निदेशक को देती हैं, जो अंतिम निर्णय लेते हैं। निदेशक सभी नीति संबंधित मामलों में अंतिम निर्णायक भी होते हैं। अनुसंधान तथा विकास प्रवृतियों के बारे में, हमारे पास विभागाध्यक्ष हैं जो सामान्यतः निदेशक महोदय के साथ परामर्श करके निर्णय प्रक्रिया में निर्णय लेते हैं। विभागाध्यक्ष अपने विभाग की अनुसंधान व विकास गतिविधियों पर भी निगरानी रखते हैं। वैज्ञानिक विभागाध्यक्ष को रिपोर्ट करते हैं। विभागाध्यक्ष निदेशक को जवाबदेह होते हैं जो आगे अनुसंधान परिषद को रिपोर्ट करते हैं।

प्रशासन में, हमारे पास अनुभाग अधिकारी, प्रशासन अधिकारी एवं प्रशासन नियंत्रक हैं जो नियमित रोजबरोज के कार्य की निगरानी करतें हैं तथा निदेशक को रिपोर्ट करते हैं। तदुपरांत विभिन्न आंतरिक समितियों का गठन किया जाता है जिसे विशिष्ट प्रकार की समस्याओं के निराकरण के लिये विशिष्ट उत्तरदायित्व प्रदान किया गया है, ये समितियाँ अपनी प्रशस्तियाँ निदेशक को देती हैं, जो अंतिम निर्णय लेते हैं। निदेशक सभी नीति संबंधित मामलों में अंतिम निर्णायक भी होते हैं।